Union Bank of India- Products

Search

Home You are here : path Products path Personal path PM 15 POINT PROGRAM

image    प्रधान मंत्री का 15 सूत्रीय कार्यक्रम

अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए पीएम का 15 सूत्री कार्यक्रम
प्रस्तावना : -

भारत सरकार ने हाल ही में 'अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री का नया 15 सूत्री कार्यक्रम' शुरू किया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि अल्पसंख्यक समुदायों के लाभार्थियों को सरकार द्वारा प्रायोजित विभिन्न योजनाओं के साथ-साथ अन्य प्राथमिकता वाले ऋणों के तहत बैंक क्रेडिट का उचित हिस्सा मिले.

कार्यक्रम का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि प्राथमिक क्षेत्र के ऋण का उचित प्रतिशत अल्पसंख्यक समुदायों को लक्षित करें और वंचितों के लिए सरकार द्वारा प्रायोजित विभिन्न योजनाओं का लाभ अल्पसंख्यक समुदायों के वंचित वर्गों तक पहुंचे.

कार्यक्रम के लक्षित समूह में भारत सरकार, कल्याण मंत्रालय द्वारा अल्पसंख्यक समुदायों के रूप में अधिसूचित निम्नलिखित समुदाय शामिल हैं.
a. मुसलमान,
b. ईसाई,
c. सिख,
d. बौद्ध और
e. पारसी (पारसी)
f. जैन

कार्यक्रम में देश के 121 जिले शामिल हैं जहां अल्पसंख्यक समुदायों की जनसंख्या केंद्रित है.

2016 तक 15% की अनुमानित स्तर राशि को हासिल करने का रोडमैप : -

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया का देश के एक अग्रणी राष्ट्रीयकृत बैंक के रूप में पूरे देश में 4078 शाखाओं का एक व्यापक नेटवर्क है और अल्पसंख्यक समुदायों के लिए वित्तीय एक्सपोजर को बढ़ाने के लिए पहले ही शुरूआत कर चुका है.
2016 तक अल्पसंख्यक समुदायों को प्राथमिक क्षेत्र के ऋण देने के लिए एवं अल्पसंख्यक समुदायों को प्राथमिक क्षेत्र के अग्रिम के 15% के लक्षित स्तर को प्राप्त करने के लिए बैंक ने एक रोडमैप तैयार किया है. वर्तमान में अल्पसंख्यक समुदायों को ऋण देने की स्थिति मार्च -2015 (11.99) तक रु.10482 करोड़ रही और हमारे बैंक ने 2016 तक 15,000 करोड़ रुपये के अनुमानित स्तर तक पहुंचने की योजना बनाई है, जो प्राथमिकत क्षेत्र के अग्रिमों के 15% की निर्धारित आवश्यकता को पूरा करेगा.

यूनियन बैंक की पहल :-

हमारे बैंक द्वारा उपरोक्त लक्षित स्तर तक पहुँचने के लिए निम्नलिखित पहल की गई हैं :

  • अल्पसंख्यक समुदायों के लिए प्राथमिक क्षेत्र के तहत ऋण के प्रवाह की निगरानी करने के लिए और उनकी समस्याओं को दूर करने के लिए कॉर्पोरेट स्तर पर एक विशेष सेल की स्थापना की गई है. श्री के. आर. जयप्रकाश, सहायक महाप्रबंधक, ग्रामीण एवं कृषि कारोबार विभाग को विशेष प्रकोष्ठ/स्पेशल सेल का प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है. संपर्क नंबर/ ई-मेल पता निम्नानुसार है-
    दूरभाष. 022-22896554 फैक्स: 022-22811694
    ई-मेल : kr.jayaprakash@unionbankofindia.com
  • अल्पसंख्यक समुदायों के लिए ऋण की निगरानी 121 अल्पसंख्यक बहुल जिलों और 338 चिन्हित शहरों में नियमित रूप से की जा रही है. मार्च -2015 तक रु.10482 करोड़ को अल्पसंख्यक समुदायों के 4.49 लाख लाभार्थियों को कवर करने के लिए प्राथमिक क्षेत्र के तहत वित्तपोषित निर्दिष्ट किया है, जिसमें से 183209 लाभार्थियों को 121 अल्पसंख्यक केन्द्रित जिलों में चिह्नित कर रु.4524.08 करोड़ के ऋण एक्सपोजर को कवर किया गया है.
  • 31.03.2015 तक हमारे बैंक की 1072 शाखाएँ 121 अल्पसंख्यक केन्द्रित जिलों/ कस्बों/ शहरों में हैं.
  • हमारे बैंक के विभिन्न जमा और ऋण उत्पादों का 121 अल्पसंख्यक केंद्रित जिलों में बैंक द्वारा पर्याप्त प्रचार किया जा रहा है.
  • हमारे बैंक की 4 राज्यों के 14 जिलों में नेतृत्व की जिम्मेदारी है. जिसमें उत्तर प्रदेश में 7, बिहार में 2, मध्य प्रदेश में 3 और केरल में 2 और संबंधित प्रमुख जिला प्रबंधक अल्पसंख्यक समुदायों को ऋण देने में प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं. केरल में हमारे 2 प्रमुख जिले यानी एर्नाकुलम और इडुक्की अल्पसंख्यक केंद्रित जिले हैं.
  • हमारे बैंक ने प्रमुख जिलों में 26 वित्तीय साक्षरता क्रेडिट काउसलिंग केंद्र (एफएलसीसी) भी खोले हैं, जिनमें से 8 एफएलसीसी एर्नाकुलम और इडुक्की जिलों में हैं जो अल्पसंख्यक केंद्रित जिले हैं जहां वित्तीय साक्षरता और वित्तीय शिक्षा नि: शुल्क प्रदान की जाती है.
उपलब्ध ऋण उत्पाद :-

हमारे बैंक के पास रिटेल लोन, हाउसिंग लोन, एजुकेशन लोन, एग्रीकल्चर लोन, छोटे कारोबार के लिए लोन, व्यापारी के लिए लोन, स्व-नियोजित/रोजगार लोन आदि जैसी विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिए विभिन्न जरूरत आधारित/ टेलर मेड डिपॉजिट/ लोन उत्पाद की एक बास्केट है.

विशेष योजनाएँ 

सरकार द्वारा प्रायोजित विभिन्न योजनाओं के तहत लाभकारी रोजगार के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है जिनमे राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम), राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन (एनयूएलएम), मैनुअल स्कैवेंजर्स (एसआरएमएस)के पुनर्वास के लिए स्व रोजगार योजना , प्रधान मंत्री ग्रामीण रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी), ब्याज की अंतर दर (डीआरआई) आदि.

कृषि क्षेत्र के लिए समर्थन

फार्म/कृषि क्षेत्र के तहत मुर्गी पालन/ डेयरी विकास, उत्पादन ऋण, कृषि यंत्रीकरण, लघु सिंचाई, भूमि विकास, भूमि की खरीद, आदि की सहायता के लिए सहायक उपलब्ध होता है.

प्रशिक्षण की जरूरत :-

हमारे बैंक ने 14 ग्रामीण विकास और स्व-रोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आर-सेटी) हमारे प्रमुख जिलों में स्थापित किए हैं, जिनमे एर्नाकुलम और इडुक्की (केरल), वाराणसी, मऊ, आजमगढ़, गाजीपुर, जौनपुर, भदोही, चंदौली (उत्तर प्रदेश), समस्तीपुर, खगड़िया (बिहार) और रीवा, सीधी, सिंगरौली (मध्य प्रदेश) और एक ग्रामीण विकास फाउंडेशन अलीबाग (महाराष्ट्र) में कौशल उन्नयन के लिए प्रशिक्षण देने के साथ-साथ स्वरोजगार के उपक्रम अपनाने के लिए परामर्शी सेवाएं प्रदान करेगा.

ऋण योजनाओं के विवरण तक पहुँच :-

जमा और ऋण के लिए उपलब्ध योजनाओं का विवरण ओवरलीफ़ में दिया गया है और इसे हमारी बैंक की वेबसाइट www.unionbankofindia.co.in पर पहुंचकर देखा जा सकता है.

खुदरा जमा योजनाएँ

  • यूनियन क्लासिक चालू खाता : मूल्य वर्धित सेवाओं के लिए होस्ट प्रदान करता है.  
  • बहू नगरीय चेक सुविधा : विभिन्न केंद्रों पर ग्राहक को धन निकालने या दूसरों को भुगतान करने में मदद करता है. 
  • बहू लाभ बचत खाता : मूल्य वर्धित सेवाओं के लिए होस्ट प्रदान करता है. 
  • यूनियन फ्लेक्सी जमा : बचत खाते और यहां तक ​​कि चालू जमा खाते पर भी सावधि जमा ब्याज दरें. 
  • पुनर्निवेश प्रमाणपत्र जमा करें : जमा वह करें जहां ब्याज त्रैमासिक हो. 
  • वरिष्ठ नागरिक योजना : वरिष्ठ नागरिकों के लिए उच्च ब्याज दर. 
  • यूनियन बीमाकृत आवर्ती जमा : जीवन बीमा के साथ आवर्ती जमा. 
  • मुद्रा गुणक जमा योजना : उच्च रिटर्न और जीवन बीमा के विकल्प के साथ सावधि जमा. 
  • संचयी जमा योजना : एक लंबी अवधि में एकमुश्त में जमा करने के लिए आसान किस्तों में बचत करें. 
  • सावधि जमा योजना : ब्याज देय मासिक/ त्रैमासिक/ अर्ध वार्षिक वांछित के रूप में..
  • यूनियन मासिक प्लस योजना : स्टेप अप और स्टेप डाउन विकल्पों के माध्यम से मासिक किस्त में जमा करने के लिए लचीलेपन के साथ संचयी जमा प्रदान करता है.

खुदरा ऋण योजनाएँ

  • यूनियन होम : फ्लैट/ घर की खरीद/ मरम्मत के लिए, घर के निर्माण के लिए.  
  • यूनियन व्यापार : थोक/ खुदरा व्यापारियों को आसान वित्त की सुविधा. 
  • यूनियन माइल्स : व्यक्तिगत/ व्यावसायिक उपयोग के वाहन खरीदने के लिए. 
  • यूनियनशिक्षा : छात्रों के लिए एक आदर्श शिक्षा ऋण. 
  • यनियन शेयर : शेयरों/ डिबेंचर/ बॉन्ड के एवज में ऋण. 
  • यूनियन टॉप-अप लोन : मौजूदा होम लोन लेने वालों को चुकाने वाली राशि का 50% तक ऋण. 
  • यूनियन स्माइल : वेतनभोगी वर्ग/ पेंशनरों के अप्रत्याशित खर्चों को पूरा करने के लिए. 
  • यूनियन मॉर्टगेज : संपत्ति के एवज में व्यक्तिगत जरूरतों के लिए ऋण.
  • यूनियन स्वास्थ्य : चिकित्सा,चिकित्सकों के लिए ऋण योजना. 
  • यूनियन रिवर्स मॉर्टगेज : वरिष्ठ नागरिकों के लिए ऋण योजना. 
  • यूनियन कैश : पेंशनरों के लिए ऋण योजना. 

प्राथमिक क्षेत्र की ऋण योजनाएँ

  • यूनियन ग्रीन कार्ड : फसलों की खेती, कृषि उपकरणों की खरीद और संबद्ध गतिविधियों के लिए लघु अवधि/ मध्यम अवधि के ऋण.
  • ट्रैक्टर/ पावर टिलर खरीदने के लिए ऋण. 
  • लघु सिंचाई : कुओं/ बोरवेल/ ट्यूबवेल/ पंप सेट/ बिजली की मोटरों/ पाइपलाइनों/ डूब की मरम्मत के लिए ऋण. 
  • फ्लोरिकल्चर (फूलों की खेती) के लिए ऋण. 
  • यूनियन व्हाइट कार्ड : दुधारू पशुओं/ डेयरी संचालकों की खरीद के लिए ऋण. 
  • मुर्गी पालन : पक्षियों की खरीद, शेड का निर्माण और मरम्मत के लिए ऋण. 
  • कृषि ऋण : छोटे/ सीमांत किसानों के भूमि खरीदने के लिए. 
  • कृषि उद्देश्य के लिए सोने के गहने के एवज में ऋण. 
  • अचल संपत्ति, मशीनरी और कार्यशील पूंजी प्राप्त करने के लिए एसएसआई इकाइयों को अग्रिम. 
  • वाहनों/ जहाजों की खरीद के लिए लघु सड़क और जल परिवहन ऑपरेटरों के लिए ऋण. 
  • खुदरा व्यापार : खुदरा व्यापारियों के लिए ऋण. 
  • एसएचजी : स्वयं सहायता, गैर सरकारी संगठन, सूक्ष्म वित्त संस्थानों के लिए ऋण.
  • सोशल इन्फ्रास्ट्रक्चर : स्कूल के निर्माण के लिए वित्त पोषण, स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं, पेयजल सुविधाएं, टीयर II से टीयर VII के केंद्रों में स्वच्छता सुविधाएं.
  • नवीकरणीय ऊर्जा : सौर आधारित बिजली जनरेटर, बायोमास आधारित बिजली जनरेटर, पवन चक्कियों, माइक्रो हाइडल पंपों और गैर पारंपरिक आधार पर सार्वजनिक उपयोगिताओं जैसे सड़क प्रकाश व्यवस्था और दूरदराज के गांव में विद्युतीकरण जैसे उद्देश्यों के लिए वित्तपोषण.
मैं अनूप कुमार दास, पुत्र स्वर्गीय श्री. जीबन कृष्णा दास, गाँव-पश्चिम नंदभंगा, पी.ओ.- बखराहट, पी.एस.- बिष्णुपुर, जिला- दक्षिण 24-परगना, पश्चिम बंगाल में रहता हूँ.
पहचान किए गए 121 अल्पसंख्यक केंद्र
क्रमांक जिला क्रमांक जिला क्रमांक जिला क्रमांक जिला
संख्या   संख्या   संख्या   संख्या  
     अंडमान         दिल्ली       मध्य प्रदेश      उत्तर प्रदेश
1 निकोबार 31 केंद्रीय 60 भोपाल 87 रामपुर
2 अंडमान 32 उत्तर पूर्व      महाराष्ट्र 88 बिजनौर
  आंध्र प्रदेश         गोवा 61 अकोला 89 मोरा दाबाद
3 हैदराबाद 33 दक्षिणी गोवा 62 मुंबई 90 साहा रनपुर
          हरियाणा 63 औरंगाबाद 91 मुजफ्फरनगर
   अरुणाचल प्रदेश 34 गुड़गाँव 64 मुंबई(सबअर्बन) 92 मेरठ
4 तवंग 35 सिरसा 65 अमरावती 93 बहराइच
5 चंगलांग    हिमाचल प्रदेश 66 बुलदना 94 बलराम पुर
6 तिरप 36 लहूल और स्पीति 67 परभणी 95 गाजियाबाद
7 पश्चिमी कमेंग 37 किन्नौर 68 वसीम 96 पीलीभीत
8 परम परे के.प्र. जम्मू और कश्मीर 69 हिंगोली 97 बरेली
9 लोअर सबनसिन 38 लेह (के.प्र. लद्धाख)          मणिपुर 98 सिददार्थ नगर
10 पूर्वी केमंग झारखंड 70 तामेंगलोंग 99 श्रावस्ती
    39 पकौर 71 उखरुल 100 ज्योतिबा फुले नगर
         असम 40 साहिबगंज 72 चुरा चाँदपुर 101 बागपत
11 धुबरी 41 गुमला 73 चंदेल 102 बुलंद शहर
12 गोलपारा 42 रांची 74 सेनापति 103 शाहजहाँपुर
13 बरपेटा           कर्नाटक 75 ठौबल 104 बड़ाऊँ
14 हैलाकंडी 43 दक्षिणाकन्नड़ा         मेघालय 105 बाराबंकी
15 करीमगंज 44 बिदर 76 पश्चिमी गारो हिल 106 खेरी
16 नागाँव 45 गुलबर्ग        मिज़ोरम 107 लखनऊ
17 मारीगाँव     77 लवंगत्लई         उत्तरांचल
18 दररंग           केरला 78 मामित 108 हरिद्वार
19 बोंगाईगांव 46 मलाप्पुरम        ओड़ीसा 109 उधम सिंह नगर
20 कचर 47 एर्नाकुलम 79 गजपति      पश्चिम बंगाल
21 कोकराझार 48 कोट्टायम        पांडेचरी 110 मुर्शिआबाद
22 उत्तरी कचर हिल 49 इडुक्की 80 माहे 111 मलदाह
23 कामरूप 50 वायंद          राजस्थान 112 उत्तर दिनाजपुर
    51 पथनम थितता 81 गंगानगर 113 बिर्भूम
          बिहार 52 कोज़हीकोडे          सिक्किम 114 दक्षिणी 24 परगनस
24 किशनगंज 53 कसरगोड 82 उत्तर 115 नादिया
25 कठियार 54 त्रिस्सूर 83 दक्षिण 116 दक्षि दिनाजपुर
26 अररिया 55 कन्नूर 84 पूर्व 117 हपराह
27 पुर्णिया 56 कोल्लम 85 पश्चिम 118 उत्तरी 24 परगनस
28 सितमढ़ी 57 थिरुवनन्थ्पुरम     119 कोच बिहार
29 दरभंगा 58 पलक्कड          तमिलनाडू 120 कोलकाता
30 पश्चिम चंपारण 59 अलापुजहा 86 कन्याकुमारी 121 बर्द्धमान
प्रमुख जिलों में हमारें बैंक की स्थिति
हमारे बैंक ने 4 राज्यों के 14 प्रमुख जिलों जिनमें 7 उत्तर प्रदेश में, 3 मध्य प्रदेश में, 2 केरला में और 2 बिहार की प्रमुख ज़िम्मेदारी ले रहा है. प्रमुख जिलों और प्रमुख जिला प्रबन्धकों के नाम निम्नलिखित है :
क्रमांकसंख्या राज्य क्षेत्र का नाम प्रमुख जिले का नाम नाम
1  बिहार समस्तीपुर खगरिया श्री.एस.के. छतराज
2 समस्तीपुर समस्तीपुर श्री.भागीरथ साओ
3  केरला एर्नाकुलम एर्नाकुलम श्री.अनिल कुमार
4 कोट्टायम इडुक्की श्री.मथियाचंग्न
5  मध्य प्रदेश रीवा रीवा श्री.एस.सी. पंजीयारा
6 रीवा सीधी श्री.अमर सिंह
7 रीवा सिंगरौली श्री.ऐ. के. चौबे
8   उत्तर प्रदेश गाज़ीपुर गाज़ीपुर श्री.मितेश कुमार
9 आजमगढ़ आजमगढ़ श्री.श्रीनिवास कलवार
10 गोरखपुर मऊ श्री.बी.डी. महतो
11 जौनपुर जौनपुर श्री.नारायण शाह
12 वाराणसी वाराणसी श्री.विजयानंद साहू
13 इलाहाबाद भदोही श्री.पी.के.बानिक
14 वाराणसी चंदौली श्री.एस.के. पढ़ी

union

union

  • Rewarded

    Rewarded

    Earn reward points on transactions made at POS and e-commerce outlets

  • Book your locker

    Book your locker

    Deposit lockers are available to keep your valuables in a stringent and safe environment

  • Financial Advice?

    Financial Advice?

    Connect to our financial advisors to seek assistance and meet set financial goals.

  • ATM & Branch Network

    ATM & Branch Network

    Find ubi Branches and ATMs in proximity to your location.