Home You are here : path Digital Banking path App Banking  path app-banking-bhim-upi

BHIM AADHAAR भीम यूपीआई

Introduction


विशेषताएँ

यूनियन बैंक यूपीआई एप्लिकेशन

यूपीआई (एकीकृत भुगतान इंटरफ़ेस / यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस) भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) द्वारा विकसित एक त्वरित तत्काल भुगतान प्रणाली है। यूपीआई P2P (पीयर टू पीयर), P2M (व्यक्ति से व्यापारी) और P2PM (छोटे व्यापारियों और असंगठित खुदरा क्षेत्र के लिए) लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है।

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया वर्तमान में व्योम (VYOM) एप्लिकेशन के माध्यम से बैंक के ग्राहकों को भीम यूपीआई (BHIM UPI) की सुविधा प्रदान कर रहा है जो मोबाइल बैंकिंग और यूपीआई दोनों प्रकार की सुविधा प्रदान करने वाला एक एप्लिकेशन है।

उपलब्धता

व्योम एप्लिकेशन गूगल प्ले स्टोर और एप्पल ऐप स्टोर से डाउनलोड के लिए उपलब्ध है।

व्योम एप्लिकेशन में भीम यूपीआई के लिए पंजीकरण कैसे करें:

व्योम एप्लिकेशन में पंजीकरण के समय, ग्राहक को सक्रिय की जाने वाली सेवाओं का चयन करने के लिए कहा जाएगा यथा मोबाइल बैंकिंग और यूपीआई। ग्राहक को आवश्यकतानुसार या तो मोबाइल बैंकिंग या यूपीआई या दोनों का चयन करना होगा।

जब ग्राहक पहली बार व्योम (VYOM) एप्लिकेशन में भीम यूपीआई (BHIM UPI) आइकन पर क्लिक करता है, तो ऐप एक संदेश प्रदर्शित करेगा कि "लेनदेन के लिए कोई वर्चुअल भुगतान पता (वीपीए) उपलब्ध नहीं है, क्या आप यूपीआई आईडी बनाना चाहते हैं?"

ग्राहक को नई यूपीआई आईडी बनाने के लिए 'हां' पर क्लिक करना होगा। ग्राहकों को व्योम ऐप के माध्यम से यूपीआई हैंडल “@unionbankofindia”, “@uboi”, “@unionbank” के साथ उपलब्धता के आधार पर a- z, A-Z, 0-9, .(डॉट), - (हाइफ़न) युक्त अपनी पसंद की एक UPI आईडी बनानी चाहिए और यूपीआई पर उपलब्ध बैंकों की सूची से बैंक का चयन करके बैंक खाता(तों) को यूपीआई आईडी से लिंक करने की आवश्यकता है। व्योम एप्लिकेशन में यूपीआई के माध्यम से अधिकतम 3 यूपीआई आईडी बनाई जा सकती हैं।

ग्राहक व्योम ऐप में भीम यूपीआई का उपयोग करके निम्नलिखित वित्तीय और गैर-वित्तीय लेनदेन कर सकते हैं।

  • यूपीआई आईडी बनाना/प्रबंध करना
  • यूपीआई नंबर बनाना/प्रबंध करना
  • भीम यूपीआई पिन सेट करना
  • भीम यूपीआई पिन बदलना
  • खाते को यूपीआई आईडी से लिंक करना
  • शेष राशि का अनुरोध
  • भुगतान
  • संग्रहण
  • क्यूआर साझा करना
  • लेन-देन देखना
  • लंबित संग्रहण अनुरोध
  • यूपीआई अधिदेश बनाना/संशोधित करना/निरस्त करना
  • व्यक्तिगत यूपीआई लेनदेन सीमा निर्धारण
  • “सुरक्षित रूप से यूपीआई का प्रयोग कैसे करें” विषय पर यूपीआई ग्राहक जागरूकता विडियो देखें

यूपीआई आईडी बनाना/प्रबंध करना

यूपीआई आईडी एक विशिष्ट पहचान क्रमांक है जिसका उपयोग बैंक खाता विवरण साझा किए बिना पैसे भेजने या प्राप्त करने के लिए किया जाएगा।

भीम यूपीआई के होम पेज पर उपलब्ध मैनेज विकल्प पर क्लिक करके यूपीआई आईडी बनाना/खाता(तों) को लिंक करना/भीम यूपीआई पिन सेट करना/यूपीआई पिन बदलना इत्यादि कार्य किए जा सकते हैं।

यूपीआई नंबर बनाना/प्रबंध करना

यूपीआई नंबर या तो मोबाइल नंबर या फिर 8-9 अंकों का कोई नंबर (उपलब्धता के आधार पर) होता है, जिसे ग्राहक अपनी वर्तमान यूपीआई आईडी से जोड़ सकता है और उस नंबर को यूपीआई आईडी के विकल्प के रूप में उपयोग कर सकता है।

ग्राहक व्योम ऐप में अधिकतम 3 यूपीआई नंबर बना सकते हैं, जिनमें से 1 ग्राहक का 10 अंकों का मोबाइल नंबर होना चाहिए और 2 कोई भी 8-9 अंकों के नंबर हो सकते हैं।

निम्न स्थानों पर उपलब्ध "यूपीआई नंबर बनाएं" विकल्प का उपयोग करके यूपीआई नंबर बनाया जा सकता है
1. यूपीआई आईडी बनाने की सक्सेस स्क्रीन
2. भीम यूपीआई डैशबोर्ड
3. यूपीआई आईडी/नंबर प्रबंध करना
4. व्योम डैशबोर्ड में हैमबर्गर मेनू

ग्राहक यूपीआई नंबर पर निम्नलिखित कार्य कर सकते हैं:

a. यूपीआई आईडी लिंक करना:
ग्राहक इस विकल्प के जरिए यूपीआई नंबर से लिंक यूपीआई आईडी को बदल सकते हैं।

b. यूपीआई नंबर निष्क्रिय करना:
ग्राहक यूपीआई नंबर के उपयोग को अस्थायी रूप से निलंबित करने हेतु यूपीआई नंबर को निष्क्रिय कर सकते हैं।

c. यूपीआई नंबर सक्रिय करना:
ग्राहक इस विकल्प के माध्यम से निष्क्रिय यूपीआई नंबरों को पुनः सक्रिय कर सकते हैं और पुनः यूपीआई नंबर के माध्यम से धनराशि को भेजना/प्राप्त करना शुरू कर सकते हैं।

d. यूपीआई नंबर डिलीट करना:
ग्राहक इस विकल्प के माध्यम से यूपीआई नंबर को डिलीट कर सकते हैं। 8-9 अंकों वाले यूपीआई नंबर हेतु, 6 माह की विराम अवधि लागू होती है जिसके भीतर ग्राहक इस नंबर को पुनः प्राप्त कर सकते हैं। 6 माह पश्चात, यह यूपीआई नंबर पूरी पारिस्थितिक प्रणाली हेतु उपलब्ध करा दिया जाएगा। मोबाइल नंबर (10 अंक) हेतु, ग्राहक जब चाहें पुनः यूपीआई नंबर प्राप्त कर सकते हैं। मोबाइल नंबर हेतु कोई कूलिंग पीरियड नहीं होगा।

भीम यूपीआई पिन सेट करना

डेबिट कार्ड के अंतिम 6 अंक एवं समाप्ति माह - वर्ष और एटीएम पिन दर्ज करें तत्पश्चात पंजीकृत मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करके यूपीआई पिन को सेट किया जा सकता है।

भीम यूपीआई पिन बदलना

वर्तमान यूपीआई पिन दर्ज करके और तत्पश्चात नया यूपीआई पिन प्रविष्ट कर यूपीआई पिन को बदला जा सकता है।

खाते को यूपीआई आईडी से लिंक करना

किसी भी बैंक के बचत/ चालू/ ओवरड्राफ्ट खाते जो यूपीआई पर सक्रिय हैं, उन्हें उपलब्ध बैंकों की सूची से बैंक का नाम चयनकर यूपीआई आईडी से लिंक किया जा सकता है। एक बार बैंक का चयन हो जाने के बाद, यूपीआई आईडी से जोड़ने हेतु खातों की सूची प्रदर्शित हो जाएगी।

शेष राशि का अनुरोध

भीम यूपीआई (BHIM UPI) की होम स्क्रीन पर चयनित यूपीआई आईडी के अंतर्गत जोड़े गए खातों के लिए शेष राशि अनुरोध का विकल्प उपलब्ध है। उपलब्ध शेष राशि की जानकारी प्राप्त करने हेतु ग्राहक को यूपीआई पिन दर्ज करना होगा।

भुगतान

ग्राहक निम्न विकल्प का उपयोग कर भुगतान / धनप्रेषण संबंधी लेन-देन शुरू कर सकते हैं:

  • यूपीआई आईडी/नंबर: ग्राहक को उपलब्ध यूपीआई आईडी/जोड़े गए खातों में से जोड़े गए खाते की यूपीआई आईडी का चयन करना होगा। इसके बाद, ग्राहक को राशि के साथ वह यूपीआई आईडी/ नंबर प्रविष्ट करनी होगी जिसमें निधि अंतरित की जानी है।

ग्राहक व्योम ऐप के होम पेज पर “ट्रांजैक्ट" अनुभाग में उपलब्ध "मैनेज पेयी" विकल्प में ऐड न्यू पेयी टैब में पेयी टाइप के रूप में 'यूपीआई आईडी /नंबर' का चयन कर यूपीआई आईडी /नंबर जोड़ सकते हैं। एक बार जब आदाता के रूप में यूपीआई आईडी /नंबर जोड़ दी जाती है, तो ग्राहक यूपीआई आईडी /नंबर की सूची से प्रत्येक बार संबन्धित यूपीआई आईडी /नंबर का चयन बिना पूरी यूपीआई आईडी /नंबर दर्ज किए कर सकता है।

  • क्यूआर स्कैन करके: ऐप के वेलकम स्क्रीन पर स्कैन क्यूआर विकल्प उपलब्ध है। वैकल्पिक रूप से, मोबाइल बैंकिंग होम स्क्रीन पर क्विक टास्क के अंतर्गत 'स्कैन एंड पे' विकल्प उपलब्ध है। इसे "सुपर टास्क" के रूप में भी सेट किया जा सकता है ताकि आसान और शीघ्र पहुंच के लिए स्कैन एंड पे आइकन को फुटर सेक्शन में सूचीबद्ध किया जा सके। भीम यूपीआई डैशबोर्ड में “अन्य गतिविधियां” के अंतर्गत भी ‘स्कैन एंड पे’ का विकल्प उपलब्ध है।
  • मोबाइल मनी आईडेंटीफायर - एमएमआईडी (Mobile Money Identifier – MMID) : इस विकल्प के तहत, ग्राहक को नाम, मोबाइल नंबर और एमएमआईडी दर्ज करना होता है, जिस पर पैसा भेजा जाना है। वैकल्पिक रूप से, ग्राहक व्योम (VYOM) ऐप के होम पेज पर “ट्रांजैक्ट" अनुभाग में उपलब्ध "मैनेज पेयी" विकल्प में ऐड न्यू पेयी टैब में पेयी टाइप के रूप में ‘एमएमआईडी’ का चयन कर आदाता के रूप में मोबाइल नंबर और एमएमआईडी को जोड़ सकते हैं।
  • खाता संख्या और आईएफ़एससी : Sउपरोक्त विकल्पों के समान, ग्राहक को राशि भेजने के लिए खाता संख्या और आईएफ़एससी कोड दर्ज करना होगा। वैकल्पिक रूप से तत्काल धनराशि भेजने के लिए ग्राहक जोड़े गए आदाता की सूची में से संबन्धित आदाता का चयन कर सकता है।

संग्रहण

किसी विशेष व्यक्ति से राशि प्राप्त करने के लिए, 'कलेक्ट फ्रॉम' फील्ड में यूपीआई आईडी/नंबर विनिर्दिष्ट करके संग्रहण अनुरोध किया जा सकता है। यूपीआई आईडी और जोड़े गए खाते को पूर्व में बनाए गए यूपीआई आईडी और लिंक किए गए खातों की सूची से चुना जाना चाहिए ताकि एक बार अन्य व्यक्ति/पार्टी द्वारा संग्रह अनुरोध स्वीकार कर लेने के बाद, संग्रह अनुरोध में विनिर्दिष्ट राशि अन्य व्यक्ति/पार्टी के खाते से डेबिट हो जाएगी और ग्राहक द्वारा चुने गए खाते में जमा हो जाएगी।

क्यूआर साझा करना

इस विकल्प के माध्यम से होम स्क्रीन पर उपलब्ध 'अन्य गतिविधियां' के तहत संबंधित यूपीआई आईडी के लिए क्यूआर (त्वरित प्रतिक्रिया) कोड उत्पन्न और साझा किया जा सकता है।

लेन-देन देखना

भीम यूपीआई की होम स्क्रीन पर 'अन्य गतिविधियां' के तहत उपलब्ध लेनदेन विकल्प में चयनित यूपीआई आईडी और लेनदेन की स्थिति के आधार पर लेनदेन सूचीबद्ध होंगे।

लंबित संग्रहण अनुरोध

हमारे ग्राहक से अन्य पार्टियों द्वारा किए गए संग्रहण अनुरोध / हमारे ग्राहक द्वारा अन्य पार्टियों से किए गए संग्रहण अनुरोधों को इस विकल्प के तहत क्रमशः 'पेंडिंग विथ मी' और 'पेंडिंग विथ पेयर' के रूप में सूचीबद्ध किया जाएगा।

ग्राहक अन्य पार्टियों द्वारा किए गए लंबित संग्रहण अनुरोधों को या तो स्वीकार/अस्वीकार/ब्लॉक कर सकता है।

यूपीआई अधिदेश बनाना/संशोधित करना/निरस्त करना

भीम यूपीआई की होम स्क्रीन पर 'अन्य गतिविधियां' के तहत यूपीआई अधिदेश विकल्प उपलब्ध है। ग्राहक इस विकल्प के तहत एक नया अधिदेश/ स्कैन अधिदेश / लंबित अधिदेश की सूची देख सकता है। अधिदेश बन जाने के बाद, ग्राहकों के पास अधिदेश को संशोधित/निरस्त करने का विकल्प होगा।

व्यक्तिगत यूपीआई लेनदेन सीमा निर्धारण

ग्राहक भीम यूपीआई (BHIM UPI) की होम स्क्रीन पर उपलब्ध 'मैनेज' विकल्प पर क्लिक कर 'सेट ट्रांसफर लिमिट' पर क्लिक कर व्यक्तिगत लेनदेन की सीमा निर्धारित कर सकते हैं। अधिकतम लेन-देन की सीमा रु. 1,00,000/- (रु. 1 लाख) प्रति लेनदेन निर्धारित की जा सकती है।

“सुरक्षित रूप से यूपीआई का प्रयोग कैसे करें" विषय पर यूपीआई ग्राहक जागरूकता वीडियो देखें

ग्राहक अब भीम यूपीआई डैशबोर्ड में "अन्य गतिविधियां" के अंतर्गत उपलब्ध "यूपीआई ग्राहक जागरूकता" विकल्प पर क्लिक करके "सुरक्षित रूप से यूपीआई का प्रयोग कैसे करें" विषय पर एनपीसीआई के यूपीआई जागरूकता वीडियो देख सकते हैं। ये वीडियो 8 भाषाओं में उपलब्ध हैं। हिंदी, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, तमिल, तेलुगु, मराठी और अंग्रेजी। चयन के आधार पर, संबंधित भाषा में उपलब्ध वीडियो देखने हेतु ग्राहक को यू-ट्यूब पर भेजा जाएगा।

FAQs


union

union

  • Rewarded

    Rewarded

    Earn reward points on transactions made at POS and e-commerce outlets

  • Book your locker

    Book your locker

    Deposit lockers are available to keep your valuables in a stringent and safe environment

  • Financial Advice?

    Financial Advice?

    Connect to our financial advisors to seek assistance and meet set financial goals.

  • ATM & Branch Network

    ATM & Branch Network

    Find ubi Branches and ATMs in proximity to your location.